उसने कहा...


जान !
ये कैसी आज़माइश है
तुम न मेरे साथ रह सकती हो
न मेरे बग़ैर रह सकती हो...
मैं न तुम्हारे साथ रह सकता हूं
और न ही तुम्हारे बग़ैर रह सकता हूं

मेरे महबूब !
ये क्या कम है
कि हम एक-दूसरे के दिल में रहते हैं
-फ़िरदौस ख़ान

  • Digg
  • Del.icio.us
  • StumbleUpon
  • Reddit
  • Twitter
  • RSS

2 Response to "उसने कहा..."

  1. The Vadhiya says:
    25 अप्रैल 2015 को 11:39 am

    Nice Article sir, Keep Going on... I am really impressed by read this. Thanks for sharing with us.. Happy Independence Day 2015, Latest Government Jobs. Top 10 Website

  2. राजेंद्र कुमार says:
    25 अप्रैल 2015 को 1:54 pm

    बहुत ही सुन्दर पंक्तियाँ, आभार।

एक टिप्पणी भेजें