गुलाब और बेला-चमेली के सफ़ेद फूलों वाली चादर...


फ़िरदौस ख़ान
छोटी-छोटी चीज़ें ज़िन्दगी में बहुत अहम हुआ करती हैं... हमें किसी चीज़ से प्यार सिर्फ़ इसलिए नहीं होता कि वह चीज़ अच्छी है, बल्कि इसलिए होता है, क्योंकि उससे हमारे जज़्बात वाबस्ता होते हैं... जैसे हमारी चादर... सुर्ख़ गुलाब और बेला-चमेली के फूलों वाली चादर... हमें ऐसी चादरें बहुत अच्छी लगती हैं, जिन पर गुलाब के फूल बने हों... जिन पर बेला-चमेली के सफ़ेद फूल बने हों... जवाज़ यह है कि उन्हें गुलाब के सुर्ख़ फूल अच्छे लगते हैं और हमें बेला-चमेली के सफ़ेद फूल पसंद हैं... हमारे पास एक चादर है, बादामी बॊर्डर वाली, जिसकी कत्थई ज़मीन पर गुलाब के फूल बने हैं... और गुलाब के फूलों के साथ ही उस पर चमेली के सफ़ेद फूल भी हैं... उसे बिछाने पर ऐसा लगता है, जैसे गुलाब और चमेली की सेज सजी हो...
ख़ास मौक़ों पर हम उसे बिछाते हैं... हमें ऐसी ही और चादरों की तलाश है, जिन पर गुलाब और बेला-चमेली के सफ़ेद फूल हों... बस, एक दिन भाभी के साथ बाज़ार जाएंगे और एक साथ कई चादरें ख़रीद लेंगे... गुलाब और बेला-चमेली के सफ़ेद फूलों वाली...
  • Digg
  • Del.icio.us
  • StumbleUpon
  • Reddit
  • Twitter
  • RSS

0 Response to "गुलाब और बेला-चमेली के सफ़ेद फूलों वाली चादर..."

टिप्पणी पोस्ट करें