ताजिर...

मेरे महबूब
बहुत बड़े ताजिर हो तुम
जो भी तुम्हें देखे
बिन मोल
ख़ुद-ब-ख़ुद बिक जाता है...
-फ़िरदौस ख़ान

  • Digg
  • Del.icio.us
  • StumbleUpon
  • Reddit
  • Twitter
  • RSS

0 Response to "ताजिर..."

एक टिप्पणी भेजें