एक दुआ उनके लिए...




मेरे महबूब
तुम्हारी ज़िन्दगी में
हमेशा मुहब्बत का मौसम रहे...

मुहब्बत के मौसम के
वही चम्पई उजाले वाले दिन
जिसकी बसंती सुबहें
सूरज की बनफ़शी किरनों से
सजी हों...

जिसकी सजीली दोपहरें
चमकती सुनहरी धूप से
सराबोर हों...

जिसकी सुरमई शामें
रूमानियत के जज़्बे से
लबरेज़ हों...
और
जिसकी मदहोश रातों पर
चांदनी अपना वजूद लुटाती रहे...

तुम्हारी ज़िन्दगी का हर साल
और
साल का हर दिन
हर दिन का हर लम्हा
मुहब्बत के नूर से रौशन रहे...

यही मेरी दुआ है
तुम्हारे लिए...
-फ़िरदौस ख़ान
  • Digg
  • Del.icio.us
  • StumbleUpon
  • Reddit
  • Twitter
  • RSS

14 Response to "एक दुआ उनके लिए..."

  1. संजय भास्कर says:
    26 जनवरी 2011 को 12:13 am

    आदरणीय फ़िरदौस ख़ान जी
    नमस्कार !
    शब्दों को चुन-चुन कर तराशा है आपने ...प्रशंसनीय रचना।
    कमाल की लेखनी है आपकी लेखनी को नमन बधाई

  2. संजय भास्कर says:
    26 जनवरी 2011 को 12:14 am

    गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाइयाँ !!

    Happy Republic Day.........Jai HIND

  3. भारतीय नागरिक - Indian Citizen says:
    26 जनवरी 2011 को 12:40 am

    क्या बात है मोती पिरो दिये हैं>.

  4. वाणी गीत says:
    26 जनवरी 2011 को 6:19 am

    खूबसूरत फूल सी ही प्यारी दुआ ..
    गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें ...

  5. वन्दना says:
    26 जनवरी 2011 को 12:45 pm

    आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
    कल (27/1/2011) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
    देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।
    http://charchamanch.uchcharan.com

    गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाइयाँ !!

  6. संगीता स्वरुप ( गीत ) says:
    26 जनवरी 2011 को 1:36 pm

    बहुत खूबसूरत दुआ ...आमीन

    गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

  7. Kailash C Sharma says:
    26 जनवरी 2011 को 1:56 pm

    बहुत सुन्दर और भावपूर्ण दुआ..गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें !

  8. shikha varshney says:
    26 जनवरी 2011 को 2:40 pm

    बहुत खूबसूरत दुआ ..

  9. mridula pradhan says:
    27 जनवरी 2011 को 11:05 am

    behad khoosurat dua hai aapki.

  10. sada says:
    27 जनवरी 2011 को 11:10 am

    दिल से निकला हर एक शब्‍द ...दुआ बन गया ।

  11. शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' says:
    27 जनवरी 2011 को 7:07 pm

    मेरे महबूब
    तुम्हारी ज़िन्दगी में
    हमेशा मुहब्बत का मौसम रहे...

    मुहब्बत के मौसम के
    वही चम्पई उजाले वाले दिन
    जिसकी बसंती सुबहें
    सूरज की बनफ़शी किरनों से
    सजी हों...
    (आमीन).

  12. रेखा श्रीवास्तव says:
    29 जनवरी 2011 को 6:19 pm

    मेरे महबूब
    तुम्हारी ज़िन्दगी में
    हमेशा मुहब्बत का मौसम रहे...

    एक प्यारी सी दुआ के साथ प्यारी सी ग़ज़ल. बहुत सुंदर अभिव्यक्ति.

  13. rashmi ravija says:
    29 जनवरी 2011 को 8:17 pm

    दिल से मांगी हुई ये खुसूरत सी दुआ जरूर क़ुबूल होगी.
    एक प्यारी सी रचना

  14. सारा सच says:
    21 अप्रैल 2011 को 8:55 pm

    अच्छे है आपके विचार, ओरो के ब्लॉग को follow करके या कमेन्ट देकर उनका होसला बढाए ....

एक टिप्पणी भेजें